लग्न कुंडली के अनुसार


कारक ग्रहों को सक्रिय करने के लिए पहने जाने वाले राशि - रत्न

प्राचीन भारतीय वैदिक ज्योतिष शास्त्र में आपका स्वागत है

हिंदी

सार्वभौमिक


जीवन को सुखी बनाने के सरल अवं अचूक उपाय

अंगिरस - भारद्वाज पुराण

राशी - रत्न

लग्न कुंडली के अनुसार 


ग्रहों के बुरे प्रभाव को कम करने के लिए किये जाने वाले पूजा/पाठ अवं दान

अपने लग्न पर क्लिक करें

विशेष उपाय

पूजा/पाठ - दान

प्रथम भाव में लिखित अंक ही आपका लग्न है

लग्न

मनुष्य तथा पृथ्वी पर, ग्रहों और तारों के शुभ तथा अशुभ प्रभावों के अध्यान और विश्लेषण को ज्योतिषी कहा जाता है

व्यक्ति के जन्म के समय पूर्वी क्षितिज पर जो राशि उदित हो रही होती है उसके कोण को लग्न कहते हैं

अगर ज्योतिष शास्त्र आपके लिए नया है तो NAVGRHASTRO.COM में आपको प्राचीन भारतीय ज्योतिष शास्त्र की बारीकियां विस्तार से समझाने का प्रयास करेगी I

NAVGRHASTRO.COM के द्वारा आप आसान तरीके से प्राचीन भारतीय ज्योतिष शास्त्र  को समझ सकते हैं I


​हमने जाना है की लोग को ज्योतिष शास्त्र की शब्दावली को समझने में अनेक दिकत्तें आती हैं I लोगों को वैदिक ज्योतिषी की शब्दावली जैसे लग्न, राशी, भाव, भाव या घर का स्वामी, उच्च ग्रह, नीच ग्रह, अस्त अवं वक्री ग्रह, मांगलिक दोष, काल-सर्प दोष, गंडमूल दोष, शनि की साढ़े-साती अवं ढहिया, विपरीत राज योग, पांच महापुरुष योग और कई तरह के योग और दोष समझने में काफी दिकत्तें महसूस होती हैं I NAVGRHASTRO.COM के द्वारा हम ज्योतिषी की इन शब्दावली को अधिक से अधिक आसान तरीके से समझाने का प्रयास करेंगे I


​NAVGRHASTRO.COM आपको बताएगी की आपके लग्न के अनुसार आपकी जनम लग्न कुंडली में नवग्रह अलग अलग भाव में किस प्रकार का परिणाम देंगे I


नवग्रह आपकी जनम लग्न के अनुसार आपकी कुंडली में कैसा परिणाम देंगे ये जानने के लिए पहले ऊपर दिए गए हरे बटन पर क्लीक करें I

फिर उस ग्रह पर क्लिक करें जिस का प्रभाव आप अपने ऊपर जानना चाहते हैं I


​NAVGHASTRO.COM के द्वारा आप हमसे प्रभावी ज्योतिषी परामर्ष ले सकते हैं I उपाय काफी आसान होते हैं जिन्हें करने पर आप उस तरह के परिणाम प्राप्त कर सकते हैं जो आपके जीवन की कठिनाइयों और मुश्किलों को काफी हद तक कम करने में मददगार होंगे ​​I


​NAVGHASTRO.COM के द्वारा आप परामर्श ले कर ज्योतिषी सीख भी सकते हैं I हमारा ज्योतिषी कोर्स तीन महीने का है जिसमें प्राचीन भारतीय ज्योतिष शास्त्र की बारीकियों का विस्तार से गहन अध्यान कराया जाता है I


हमसे परामर्श लेने के लिए आप हमे मोबाइल के द्वारा आगे दिए गए नंबरों पर टेक्स्ट मेसेज या व्हाटसप्प मेसेज कर सकते हैं I +91 9899575606 / 9920303606

या

ईमेल कर सकते हैं VIKAS440@GMAIL.COM पर